Search This Blog

Saturday, 17 July 2010

tardeed hee sahi

तज़वीज़ मेरी गर तुझे मंज़ूर नहीं
पशेमानी मेरी पर तरदीद ही  सही
[तज़वीज़ = proposal, पशेमानी = shame, तरदीद = refutation/rejection]

दिल मुद्दई  है और खुदा मुखालिफ,
तवक्को  क्या रखे अब क्या बाकी रही
[मुद्दई= enemy, मुखालिफ = enemy,तवक्को = expectation]

कह रहा हूं फिर से आज वो बात,
बात जो ना तुमने कभी मुझसे कही

दिल-ए-गरां ना बैठ दर-ए-संग-ए-दिल पे,
कमबख्त उठ, चल चलें और कहीं
[दिल-ए-गरां = Heavy heart; दर-ए-संग-ए-दिल = Door of a stone heart; कमबख्त = unfortunate]
 
बेकसी जिसका मुक्क़दर बन गई
मैं हूँ बदनसीब 'मुज़्तरिब' वही
[बेकसी = helplessness/distress; मुक्क़दर = destiny; बदनसीब = unfortunate]
'मुज़्तरिब'